February 25, 2024
Land Se Chut Ki Chudai

हेलो दोस्तों, आपकी रितिका आप लोगो के लिए पलंग तोड़ Hindi Sex Story लेकर आयी हूँ।

आप लोगो को खासकर लड़को को पढ़ के मुठ मरने का मन कर जायेगा। और लड़कियों को अपनी चुत में ऊँगली डालने का।

ये Free Hindi Sex Kahani है प्रिया और उसके सिक्योरिटी गार्ड की चुदाई के बारे में है कैसे सिक्योरिटी गार्ड के फौलादी लंड से चूत की चुदाई ( Land Se Chut Ki Chudai ) हुई।

इस कहानी के लेखक है – प्रिया

मेरा नाम प्रिया है और मैं अपने पति के साथ दिल्ली में रहती हूं।

मैं बहुत मोहक हूं. मुझे योगा और पिलेट्स बहुत पसंद है।

कभी-कभी सोसायटी के जिम पर जब लोग मुझे मुड़-मुड़ के देखते हैं तो मेरा ये यकीन और भी बढ़ जाता है।

बदकिस्मती से मेरा पति कभी ध्यान नहीं देता। हमेशा अपने काम में व्यस्त और महीने में एक या दो बार चुदाई।

मेरी चूत बहुत टाइट है और गांड तो खुली भी नहीं। वो ज़्यादा काम से बाहर जाता रहता है और मैं अकेली रहती हूँ।

हमारी सोसायटी में कुछ दिन पहले एक नया सिक्योरिटी गार्ड आया था। बॉडी टाइप उसका पूरा मस्कुलर और लम्बा चौड़ा।

रोहित नॉएडा से था। मेरी सारी बिल्डिंग की लड़कियों को जैसा नया टॉपिक मिल गया था गॉसिप के लिए।

रोज़ शाम को कोई ना कोई उसके बारे में कुछ बात शुरू कर देता था। ‘इसकी बीवी के कितने मजे होते होंगे।

इसका कितना लम्बा होगा,’ आदि आदि। लोगो को दिखाने के लिए तो मैं बोलती थी,
“क्या फालतू और बेकार बातें हैं ये सब। हमें ऐसी बातें नहीं करनी चाहिए शादी के बाद।”

वो मेरे पे ज़ोर ज़ोर से हस्ती बोलके, “तू तो अभी बची है।” पर अंदर से मन होता काश एक बार ये मुझे चोद दे।

मैं मन ही मन उसके लंड को इमेजिन करने लग गई। सोचती रहती काश इसका लंड मेरी चूत में समा जाए।

एक दिन मैं कुछ दिनों के लिए अकेली थी। मैं नहाने गई और मेरे घर की घंटी बज गई।

आम तौर पर नौकरानी का समय वह तो मुख्य तौलिया में ही गेट खोलने चली गई। गेट खुलने गई तो सामने रोहित था।

मेरी जैसे सांस रुक सी गई. मुझे बड़ी शर्म आई और मेरे पेट में अजीब सी गुड गुडी सी होने लगे।

मैंने गुस्से से पूछा, “क्या है! क्या चाहिए तुम्हें?” वो भी सहम से गया था, कहीं मैं शोर ना मचा दूं।

वो बोला, “मैम आपका कूरियर आया है। कूरियर वाला आपको कॉल लगा रहा था लेकिन आप फोन नहीं उठा रहे थे।

वो नीचे ही खड़ा है. आपका सीओडी ऑर्डर इसलिए मैं आया। उसको 1250 रुपये देने हैं।”

मैंने उसको अंदर से 1300 रुपये ला के दिए और मैं अंदर चली गई।

मेरा गेट शायद थोड़ा सा खुला रह गया, मैं नहाने चली गई। भूल गई कि वो बचे हुए पैसे वापस करने आएगा।

रोहित वापस आया. शायद वो मेरी आँखों में वो प्यास देख गया जो मैं कहीं दिनों से बुझाने का इंतज़ार कर रही थी।

वो मेरे बाथरूम के आस-पास घूमने लगा। फ़िर उसने बेडरूम की लाइट बंद कर दी।

मैं नहा कर आई और बेडरूम का दरवाजा बंद किया और तौलिया निकाल दिया।

कमरे में बिल्कुल कम रोशनी थी. रोहित छुपके पर्दे के पीछे से मुझे देख रहा था। मैं खुद को आईने में देख रही थी।

मैं मिरर के सामने बैठ गई और उसको याद करते हुए अपनी चूत खोल ली। मैं अपने चूचे दबाने लगी और चूत में थूकने लगी।

मेरे चूचे में से दूध निकलता है। क्यों और कैसे ये मुझे भी नहीं पता, मगर जब भी ठरक जागती है निकलता है।

उसने अपने कपड़े वही उतार दिए और अपना खड़ा लंड लेकर धीरे से मेरे पीछे आ गया।

मैं उसको देख कर चिल्लाई और उसने अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया। उसने अपने हाथों से मेरे चूचे को दबाना शुरू कर दिया।

ये सब इतनी जल्दी हुआ. इसे पहले मैं कुछ समझ पति मैं खुद बहुत हॉर्नी हो गई।

उसने लंड मुँह से निकाला और नीचे बैठ कर मेरी चूत चाटने लगा। मैं बह गई उसके खड़े लंड को देख कर मेरा सपना पूरा हो रहा था।

वो मेरी पूरी चूत को चाट रहा था और धीरे-धीरे उसने अपनी पूरी जीभ मेरी चूत में घुसा दी।

मेरे चूचे को दबाते हुए मेरे चूचे को देख कर दूध निकाल रहा था। मुझे लगा मुझे स्वर्ग मिल गया।

फिर क्या था? मेरी गांड को पूरा चटाते हुए मेरी टाइट गांड देख कर उसे मजा आ रहा था।

मुझे इतना मजा आ रहा था कि मेरा पिशाब निकलने लगा। मैं बोली, “बाथरूम जाना है।”

वो बोला, “नहीं तू यहीं कर, मुझे तेरा पेशाब पीना है।” वो मुहं खोल कर लेट गया.

मुझे बहुत अजीब सा लगा और बहुत शर्म आई। मगर मैं रुकी नहीं. मैंने उसके मुँह में नशा किया और वो पूरा पी गया!

मुझे लगा ऐसा भी कोई हो सकता है क्या। वो मेरी चूत के बाल चाटने लगा फिर मेरी चूत उसके मुँह में और उसका लंड मेरे मुँह में।

मैं उसका लुंबा मोटा लंड चूसने लगी. उसका लंड बहुत थरक जगा रहा था.

मैं उसके टैटू को चटने लगी। प्रयोग भी बड़ा मजा आने लगा। उसने धीरे से मेरे मुँह में थोड़ा दर्द किया।

मुझे मजा आया पर अजीब सा स्वाद आया। खाता सा, नमक जैसा पानी का मगर मुझे स्वाद बहुत अच्छा लगा।

फिर क्या था? उसने मेरा गला घोंट कर दिया पेशाब कर के। मेरा पूरा चेहरा खराब हो गया।

मेरे बाल से भी पेशाब गिर रहा था और उसमें से महक आ रही थी। हमें और मजा आने लगा.

फिर उसने मेरी जोड़ी खोल कर अपना लंड डाल दिया। मेरी गाल निकल गयी. मुझे लगा इसी पल का मैं इंतज़ार कर रही थी।

वो मुझे चोद रहा था और मैं मचल रही थी। दर्द था मगर मजा उससे काई ज्यादा बढ़ के था।

मैं चिल्ला के बोली, “मुठ निकलवा मेरी बहनचोद. हरामी घर में घुस गया, अब चोद ज़ोर ज़ोर से देख, लगा अपनी गांड की ताकत और चोद मुझे।” वो और तेज हो गया.

वो भी मुझे गली देने लगा और बोला, “मेरी रंडी बनेगी हमेशा के लिए? हमेशा चोदता रहूँगा।

” बहुत देर तक चुदने के बाद मेरी मुठ निकली. लगा मेरी जवानी बरबाद नहीं है.

पर वो रोहित, उसका लंड अभी भी खड़ा था। वो बोला, “अपनी गांड दे।

” मैं बोली, “वो खुली नहीं है।” वो बोला, “मैं खोलूंगा आज।” उसने मुझे कुतिया बनाया और मेरी गांड पर लंड सेट करके और ज़ोर लगाने लगा।

उसका लंड थोड़ा अंदर गया तो मेरी जान निकल गई और मैं चिल्लाई।

वो बोला, “रुक रांड” फिर वो मेरी गांड में पेशाब करने लगा। आअहह मेरी गाल निकल गई, लंड घुसा कर उसने गांड खोली।

फिर उसने खूब मजे दिये। ऐसा मजा मैं रोज ले सकती, कभी चूत कभी गांड, सब खोल के उसने मुझे खूब चोदा।

मेरे चूचे को खूब दबाया दूध पिया। अपना लंड मेरे मुँह में घुसा कर बोला, “मूत पियेगी मेरा?”

मैं बोली, “बहनचोद पूछ मत दे अपना मूत।” मैं उसे दबा रही थी और उसका लंड चूस रही थी। थूक-थूक कर गिला पड़ा लंड जोर-जोर से हिलाने लगा। और तेज़ बहुत तेज़.

मैं अपनी जीभ निकल कर बैठ गयी, अपने चूचे को दबा रही थी। पूरे घर में हमारी आवाज़ गूंज रही थी। वो खूब चिल्लाया ज़ोर ज़ोर से। मैंने उसके टैटू को निचोड़ दिया।

फिर एक दम से उसका सफ़ेद वीर्य निकला मेरे मुँह में और मैंने पूरा लंड चूस लिया।

ज़ोर ज़ोर से मुंह को खींचने लगी और पूरा पी गई। हम दोनो आलसी हो गये थे। फिर हम बिस्तर पर सो गए दोनों नंगे।

जब मेरी नींद खुली तो देखा वो जा चूका था। मेरे पूरे शरीर से उसकी प्यास की और मुंह से गंध आ रही थी।

मैं उठी, खुद को आईने में देखी और नहाने चली गई

उस दिन के बाद से आज तक मैंने सिर्फ एक बार उसको देखा था।

सुनने में आया था कि उसकी शादी पक्की हो गई थी। सोचती हूं कौन होगी वो खुश नसीब औरत जो इसके लंड की मालकिन बनी होगी।

मेरी चूत अब फिर प्यासी है और मुझे फिर किसी का इंतज़ार है।

ये xxxकहानी आप readxstories.com पर पढ़ रहे थे। उम्मीद करता हूँ आप लोगो को पसंद आयी होगी। 

कहानी कैसी लगी कमेंट में ज़रूर बताये। मिलते अगले किसी दिलचस्प कहानी के साथ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds