February 23, 2024
Trial Room Me ki Bur Chudai

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सब? मुझे उम्मीद है

कि आप सभी ठीक होंगे और Hindi Sex Stories का आनंद ले रहे होंगे और लड़की को चोदने के बाद उसकी चूत का रस जरूर निकालेंगे.

मुझे उम्मीद है कि आप सभी सेक्स कर रहे होंगे और लड़कियों को भी सेक्स का पूरा मजा दे रहे होंगे.

दोस्तों आज मैं अपनी Trial Room Mai ki Bur Chudai की कहानी लेकर आया हूँ। यह मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची कहानी है। अपनी कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे में बता देता हूँ.

मेरा नाम राहुल है। मेरी उम्र 25 साल है। मैं आगरा का रहने वाला हूँ. मेरी हाइट 6 फीट 65 इंच है. मेरे लिंग का आकार 6.5 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है। मैं दिखने में काफी गोरा हूँ और मेरी बॉडी भी अच्छी शेप में है जिससे मैं स्मार्ट दिखता हूँ. मैं फिलहाल पढ़ाई कर रहा हूं और पार्ट टाइम जॉब भी कर रहा हूं।

मेरे घर में मैं और मेरे माता-पिता रहते हैं और मैं अपने माता-पिता की इकलौती संतान हूं। दोस्तों आज मैं जो कहानी लेकर आया हूँ। मुझे उम्मीद है कि आप लोगों को मेरी कहानी पसंद आएगी और इस कहानी को पढ़ने में बहुत मज़ा आएगा। अब मैं अपनी कहानी शुरू करता हूँ.

ये कहानी अभी एक महीने पहले की है. मैं अपने घर पर ही रहता था क्योंकि मैं अपने कॉलेज नहीं जाता था और कॉलेज तभी जाता था जब एग्जाम होते थे।

मैं अपने घर पर ही रहता था तो मेरे एक दोस्त ने कहा कि अगर तुम फ्री हो तो नौकरी करना शुरू कर दो। फिर मैंने कहा यार मुझे ये करना है

लेकिन मुझे समझ नहीं आ रहा है कि मैं कहां जाऊं, अगर तुम्हें कहीं पता हो तो बताओ तो उसने कहा कि यार वो एक मॉल में है, अगर तुम्हें पता है तो चलो मैं बात करता हूं, तो मैंने कहा कि तुम मुझसे बात कर सकते हो और मैं करूंगा यह। मैं आपको अपने दोस्त के बारे में बताता हूँ.

उसका नाम राज है और वह मेरा बचपन का दोस्त है। फिर राज ने मुझे अगले दिन बताया कि मॉल में काम तो है लेकिन कंप्यूटर ऑपरेटिंग का है लेकिन सैलरी बहुत कम है तो मैंने पूछा कि कितनी है?

फिर उसने मुझसे कहा 8000 हजार, मैंने कहा मैं तब तक काम करूंगा और अगर कहीं अच्छी नौकरी मिल गई तो चला जाऊंगा. फिर राज ने कहा ठीक है और मैंने सोचा कि सैलरी कम है तो क्या हुआ, बहुत सारा माल देखने को मिलेगा.

फिर मैं अगले दिन काम पर जाने लगा. मुझे सुबह 9-9:30 बजे तक जाना होता था और शाम को 8 बजे के बाद ही आता था, इस तरह मैंने मॉल में काम करना शुरू कर दिया। मुझे वहां धीरे-धीरे काम करते हुए 15 दिन हो गए हैं.

अब मुझे वहां के बारे में बहुत कुछ पता चल गया था. अब मैं वहां सभी लोगों को जानता था और सभी मुझसे बहुत प्यार से बात करते थे. एक दिन एक लड़की मॉल में कुछ खरीद रही थी तो मेरी तरफ देख रही थी. दोस्तो, मुझे उसका नाम तो नहीं पता लेकिन वो बहुत मस्त लग रही थी। उसका फिगर भी बहुत अच्छा था.

उसके गोल बड़े मम्मे टी-शर्ट के ऊपर से साफ़ दिख रहे थे। मैं उसकी चुचियों को देख रहा था. जब वो चलती थी तो अपनी गांड हिलाती थी, जिसे देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता था.

उस दिन मैंने टॉयलेट में जाकर हस्तमैथुन किया और अपना सारा वीर्य निकाल दिया. फिर मैं अपना काम करने लगा और जब मैं मॉल से घर जा रहा था तो मुझे वह लड़की सड़क पर खड़ी मिली और मैं उसे देख रहा था।

वो भी मेरी तरफ देख रही थी और मुझे देखकर वो मेरी तरफ मुस्कुराकर बोली और फिर मुझे बाय कहकर चली गयी. फिर मैं अपने घर गया, खाना खाया और सो गया.

अगले दिन मुझे घर पर कुछ काम था जिसके कारण मैं मॉल नहीं जा सका। उस दिन मैंने घर का काम किया और फिर राज के साथ घूमने चली गयी. उस दिन मैंने और राज ने खूब मस्ती की.

फिर रात काफी हो गई थी इसलिए मैं घर आया, खाना खाया और सो गया। फिर मैं सुबह उठकर तैयार हुआ और फिर अपने काम पर चला गया. जब मैं वहां पहुंचा तो मुझे उस दिन दूसरा काम करने को कहा गया और वह काम और भी अच्छा था.

मैं वहीं खड़ा ही था कि मेरी नजर उस लड़की पर पड़ी और वो मेरी तरफ इशारा करके कुछ कह रही थी लेकिन मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था.

फिर मैंने उसे इशारा किया और अपने साथ आने को कहा, फिर में उसके पीछे गया और वो ट्रायल रूम में चली गयी. जैसे ही मैं ट्रायल रूम में गया, उसने मुझे अपनी ओर खींच लिया और कसकर गले लगा लिया और फिर अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए और मेरे होंठों को चूसने लगी.

मैं उससे कुछ नहीं पूछ सका. वो मेरे होंठों को अपने मुँह में रख कर चूस रही थी और मैं उसके होंठों को चूस रहा था। जब मैं उसे चूम रहा था तो मेरा लंड लोहे की तरह खड़ा हो गया.

फिर वो मेरे लंड को पैंट के ऊपर से सहलाने लगी और मैं उसे चूमने के साथ-साथ उसके बड़े-बड़े मम्मों को कपड़ों के ऊपर से दबा रहा था। मैं उसके होंठों को चूस रहा था और अपने हाथों से उसके मम्मों को पकड़ कर मसल रहा था.

मैं 5 मिनट तक ऐसे ही उसके मम्मे दबाता रहा और फिर उसने मेरे कपड़े उतार दिये और अपने भी उतार दिये और अब हम दोनों बिना कपड़ों के थे। फिर मैंने उसकी कमर पकड़ ली और उसकी कमर को चूमने लगा. मैं उसकी कमर को चूमने के साथ-साथ उसकी चूत को अपने हाथ से सहलाने लगा।

फिर मैंने उसके एक स्तन को अपने मुँह में रख लिया और चूसने लगा और दूसरे को हाथ में पकड़ कर मसलने लगा। वह मेरे बालों को सहला रही थी और अपने गोल और चिकने स्तन चूस रही थी।

मैं उसके निपल्स को अपने मुंह से पकड़ कर खींच रहा था और चूस रहा था और वो ऊंह ऊंह… हंसी हा हा हा… उई उई उई… स्स स्स स्स… आह आह आह… करते हुए मेरे बालों को सहला रही थी।

फिर मैंने उसके पहले दूध को छोड़ कर दूसरे को मुँह में लेकर चूसने लगा और पहले वाले को हाथ में पकड़ कर उसके निप्पलों को घुमा-घुमा कर चूस रहा था।

वो उई उई आह आह आह आह… आआ… ऊऊऊ… उई उई उई… स्स स्स… करते हुए अपने मम्मे चुसवा रही थी, मैं कुछ देर तक ऐसे ही उसके मम्मे चूसता रहा और फिर उसे लेटा दिया, उसकी टांगें फैला दीं और अपना मुँह उसमें डाल दिया। उसकी चूत जिससे वो उई उई आह हाँ जैसी मादक आवाजें निकालने लगी।

आउच माँ…. ऊऊऊ…आआआ…. ह्ह्ह… हो सकता है… माँ माँ माँ… ऊऊऊ ईईई…. वो कराहने की आवाजें निकालते हुए अपनी चूत को सहला रही थी. मैं उसकी चूत में अपनी जीभ अन्दर-बाहर करते हुए उसकी चूत चाट रहा था। उसकी चूत को चाटने के साथ-साथ मैंने अपनी उंगली भी उसकी चूत में डाल दी।

जिससे उसके मुँह से ऊ ऊ ऊ आ आ आ… की आवाज निकली। उई उई उई.. माँ माँ माँ माँ…. उह उह उह उह…. सिसकारियां लेने लगी ‘हू हू हू हू…’ मैं अपनी उंगली उसकी चूत में जोर-जोर से अन्दर-बाहर करने लगा, जिससे वो उत्तेजित हो गई और मेरा सिर दबाने लगी। 6-7 मिनट तक ऐसे ही उसकी चूत चाटने के बाद.

मैंने अपना लिंग अंडरवियर से बाहर निकाला और उसके हाथ में पकड़ा दिया और उसके मुँह से निकला, हे भगवान, यह कितना बड़ा था। फिर वो अपने घुटनों के बल बैठ गयी और मेरा लंड अपने मुहं में रखकर चूसने लगी और में उसके बाल पकड़कर अपना लंड चुसवाने लगा. वो मेरे लंड को मुंह में रख कर जोर जोर से चूस रही थी.

फिर कुछ देर तक ऐसे ही मेरे लंड को चूसने के बाद उसने मेरे लंड को अपने मुँह से निकाल दिया. फिर मैंने उसकी टाँगें फैलाईं और अपना लंड उसकी चूत के मुँह पर रखा और घुसा दिया। उसकी चूत गीली थी, जिससे मेरा लंड एक ही धक्के में उसकी चूत में अन्दर तक घुसता हुआ लग रहा था. फिर वो ऊऊ आह आह आह… उई उई उई… आआआ….

हा हा हा हा…उई उई उई…करते हुए वो चुदवाने लगी। मैं उसकी चूत में अपने लंड को तेज धक्को के साथ अन्दर-बाहर करते हुए उसे चोद रहा था। फिर मैंने उसे घोड़ी बना दिया और पीछे से उसकी चूत में अपना लंड डाल दिया और जोर-जोर से अन्दर-बाहर करने लगा। फिर वो है हु हु हु हु… हा हा हा हा…

उई उई मई उई मई उई मई.. माँ उई अमा कराहते हुए अपनी चूत को आगे पीछे करते हुए चुदने लगी. मैं उसे 10 मिनट तक ऐसे ही चोदता रहा और वो ऊऊ आह आह आह करती रही. तभी मेरे लिंग ने अपना सारा माल उसके मुँह में छोड़ दिया और उसने सारा माल निगल लिया।

मुझे उम्मीद है कि आप लोगों को मेरी कहानी पसंद आयी होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds